hindi ki bindi

Listen Music & FM channels

श्र

श्रमिक

hindi poem labour
श्रमिक सदा श्रम करता है।
कभी न खाली रहता है,
कभी नही करता विश्राम,
इसको है आराम हराम।।
hindi poem labour hindi poem labour