hindi ki bindi

Listen Music & FM channels

क्ष

क्षत्रिय

hindi poem
क्षत्रिय होता वीर धुरधर।
नही जानता क्या होता डर,
बहुत अधिक बलशाली है यह,
रखता शक्ति निराली है यह।।
hindi poem hindi poem